दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat!

Share:

दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
Angkor Wat temple

कंबोडिया में स्थित यह मंदिर खमेर राजा द्वारा जिनका नाम सूर्य वर्मन द्वितीय था,12 वीं शताब्दी में खमेंर साम्राज्य की राजधानी यशोधरापुरा में बनाया गया था।जानकारी के अनुसार यह मंदिर 402 एकड़ भूमि में बनाया गया है।यह मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक स्मारक स्थल होने के साथ-साथ यह श्रद्धालुओं को आकर्षित करने वाला धार्मिक स्थल भी है।

दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
Sunrise angkor wat

एक जानकारी के अनुसार कंबोडिया में आने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटक में 50% इस मंदिर को देखने के लिए आते हैं अंकोरवाट का मंदिर कंबोडिया के राष्ट्रीय ध्वज पर चित्रित किया गया है।एक समय कंबोडिया का नाम कंपूचिया था, और यह शक्तिशाली हिंदू और बौद्ध धर्म के साम्राज्य के लिए जाना जाता था यहां पर खमेर साम्राज्य का पूरे एशिया में वर्चस्व था।



दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat


  ⤖ महाशिवरात्रि का महत्व/महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है?

यह मंदिर  खमेर  साम्राज्य की वास्तुकला का सबसे उपयुक्त उदाहरण है इस मंदिर को मेरु पर्वत का रूप देते हुए बनाया गया है। मेरु पर्वत का सनातन धर्म खासा महत्व है, हिंदू धर्म में मेरु पर्वत को भगवान ब्रह्मा सहित अनेक देवताओं का निवास स्थान माना जाता है। इस मंदिर की बहुत सारी विशेषताएं हैं एक विशेषता ऐसी है जो इसे सारे हिंदू मंदिरों से अलग करती है इस मंदिर का मुख्य द्वार पश्चिम दिशा में है जबकि सभी प्रमुख हिंदू तीर्थ और मंदिरों का द्वार पूर्व दिशा की ओर होता है। यह मंदिर सूर्यास्त के समय भगवान सूर्य को नमन करता हुआ दिखाई देता है और ढलते सूरज की रोशनी में डूबा हुआ यह मंदिर की सुंदरता को कई गुना बढ़ा देता है। जो सैलानियों को काफी आकर्षित करती है।


दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
angkor wat temple


यूनेस्को ने सन 1992 में हिंदू और बौद्ध धर्म की इस धरोहर अंकोरवाट को,विश्व विरासत घोषित किया था। इस मंदिर में लगभग 40,00,000 लोग हर वर्ष  दर्शनों के लिए आते हैं। इस मंदिर का एक और तथ्य चौंकाने वाला निकल कर सामने आता है इस मंदिर को बनवाने वाले का खमेर वंश के राजा शैव संप्रदाय के अनुयाई थे अर्थात वह भगवान शिव के भक्त थे, लेकिन अपने पूर्वजों से अलग हटकर राजा सूर्यवर्मन द्वितीय ने भगवान विष्णु को समर्पित इस मंदिर का निर्माण कराया था इसके निर्माण कार्य में लगभग 40 वर्ष का समय लगा था ।मंदिर की दीवारों पर अनेक धार्मिक पौराणिक कहानी और चित्र मूर्तियों आदि के माध्यम से संस्कृति को बहुत ही खूबसूरती से उकेरा गया है।


दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
angkor wat temple

 मेरु पर्वत प्रतिज्ञा मंदिर इस की दीवारों पर सनातन धर्म ग्रंथों के प्रसंगों का चित्रण है इन पत्थरों में अप्सराएं बहुत सुंदर चित्र की गई हैंअसुरों और देवताओं के बीच हुआ भयंकर समुंदर मंथन का भी दृश्य दिखाया गया है सनातन धर्म को मानने वाले इसे अपना पवित्र तीर्थ स्थल मानते है।हालांकि वर्तमान में यह हिंदू और बौद्ध दोनों की आस्थाओं का प्रतीक है।


दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
angkor wat temple


12 वीं शताब्दी में बनवाए गए इस मंदिर में मंदिर की रक्षा के लिए मंदिर के चारों तरफ एक खाई बनवाई गई है जो इस मंदिर की रक्षा करती है जिसकी चौड़ाई लगभग 700 फुट है मंदिर के पश्चिमी में एक पुल बना हुआ है जो इस खाई को पार करने के लिए, खाई पार करने के पश्चात  मंदिर में प्रवेश प्रवेश द्वार है जो लगभग 1000 फुट चौड़ा है।


दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
angkor wat temple

 स मंदिर में जगह-जगह आपको रामायण के चित्रण मिल जाएंगे। इसमें विशेषकर सीता हरण, रावण वध आदि का चित्रण बड़ी खूबसूरती के साथ दीवारों पर बड़ी मात्रा में उकेरा गया हैजिसकी सुंदरता देखते ही बनती है भगवान विष्णु को समर्पित यह मंदिर अपने आप में ही विश्व का सबसे अद्भुत और आश्चर्यजनक प्रतीत होता है।


दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
angkor wat temple

पूरे मंदिर में रामायण के चित्र अंकित है मंदिर को देखने के बाद समझ आता है कि उस समय वहां भगवान विष्णु शिव शक्ति गणेश आदि देवताओं की पूजा का प्रचलन था, यहां पर हिंदू मंदिरों के बाद बौद्ध धर्म का खासा प्रभाव पड़ा और कालांतर में उसमें बौद्ध भिक्षुओं ने निवास भी किया।
दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर Angkor wat
angkor wat temple


Read Also ↴


                        

2 comments: